भगोड़े भारतीय क्रिमिनल्‍स का ‘पसंदीदा डेस्‍टिनेशन’ ब्रिटेन, ये है कारण

न केवल नीरव और माल्‍या बल्‍कि 2013 से अब तक 5500 भारतीयों ने ब्रिटेन में शरण ले रखा है हालांकि इनमें सभी क्रिमिनल नहीं हैं।