2 लाख के पार पहुंची संक्रमित मरीजों की संख्या, आज सामने आए रिकॉर्ड 7074 पॉजिटिव केस; जीएसबी सेवा मंडल ने प्रतिमा को 14 फुट करने की अनुमति मांगी


महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख के पार हुए, पिछले 24 घंटे में यहां सामने आए 7074 मरीज सामने आए हैं। शनिवार शाम तक राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2 लाख 64 तक पहुंच गई है। पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में 295 लोगों की मौत वायरस की वजह से हुई है।जिसके बाद राज्य में मृतकों की संख्या बढ़कर 8671 हो गया है।वहीं राज्य में पिछले 24 घंटों के दौरान3395 संक्रमित मरीज की खोकर घर भी गए हैं। राज्य में अब तक 1 लाख 8 हजार 82 मरीज ठीक भी हुए हैं। अच्छी बात यह है कि राज्य में रिकवरी रेट बढ़ कर 54.2 परसेंट पर पहुंच गया है। महाराष्ट्र में अब तक 10 लाख 80 हजार से ज्यादा लोगों की जांच हो चुकी है।राज्य में अब भी 86295लोगों का इलाज चल रहा है।जीएसबी सेवा मंडल ने बप्पा की प्रतिमा को 14 फुट करने की अनुमति मांगीमुंबई के किंग्स सर्कल इलाके में स्थित जीएसबी सेवा मंडल ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से गणेश प्रतिमा की ऊंचाई पारंपरिक रूप से 14 फुट रखने की अनुमति मांगी है। 22 अगस्त से गणेश चतुर्थी समारोह शुरू होने हैं। राज्य सरकार ने कोरोना वायरस महामारी के बीच संगठनों को मूर्तियों की ऊंचाई को चार फुट तक कम करने और शारीरिक दूरी तथा लॉकडाउन नियमों का पालन करते हुए सादगी के साथ गणेश चतुर्थी मनाने के लिये कहा है।इस बार ऑनलाइन घर तक भेजा जायेगा प्रसादजीएसबी सेवा मंडल के न्यासी आरजी भट्ट ने एक बयान में कहा कि ऊंचाई में बदलाव बाधा उत्पन्न करेगा क्योंकि पर्यावरण अनुकूल सोने और चांदी के आभूषणों से सजती है। बयान में कहा गया है कि इस बार मूर्ति विसर्जन नहीं होगा और श्रद्धालु ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे जबकि ई-कॉमर्स माध्यमों से प्रसाद वितरित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि शारीरिक दूरी के सभी नियमों का पालन किया जाएगा और श्रद्धालुओं को जमा होने या दर्शन की अनुमति नहीं होगी।महाविकास अघाड़ी के नेताओं में नहीं है समन्वय: देवेन्द्र फडणवीसभाजपा के वरिष्ठ नेता देवेन्द्र फडणवीस ने शनिवार को आरोप लगाया कि कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई को लेकर महा विकास आघाडी (एमवीए) सरकार में शामिल तीनों पार्टियों, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उनकी कैबिनेट के बीच समन्वय नहीं है। फडणवीस ने कहा कि एमवीए की पार्टियां कहती जरुर हैं कि वे मुख्यमंत्री के साथ हैं लेकिन उनके कामकाज से ऐसा नहीं लगता है। विधानसभा में विपक्ष के नेता फडणवीस ने कहा कि इस महामारी का सामना करने के लिए सभी के बीच समन्वय और एक ही जगह से सभी फैसले होने चाहिए।लॉकडाउन बढ़ाने से पहले उसपर विचार होना चाहिएशुक्रवार को मुख्यमंत्री ठाकरे और राकांपा प्रमुख शरद पवार के बीच हुई बैठक के बारे में फडणवीस ने कहा, "मैं पहले ही दिन से कह रहा हूं कि आघाड़ी में समन्वय नहीं है। सरकार में भी समन्वय नहीं है।" फडणवीस ने आगे कहा, "मैं लॉकडाउन के खिलाफ नहीं हूं। लेकिन अब हम अनलॉक की प्रक्रिया में हैं, हम कुछ क्षेत्रों में आंशिक लॉकडाउन के बारे में विचार कर सकते हैं।"गर्भवती, बीमार महिला कर्मचारियों के लिए वर्क फ्रॉम होम की मांगाप्रदेश की बाल विकास मंत्री यशोमती ठाकुर ने पुरानी बामारियों से ग्रसित 50 साल से ज्यादा आयु वाली और गर्भवती सरकारी महिला अधिकारियों और कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की इजाजत देने की मांग की है। ठाकुर ने इसके लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखा है।उन्होंने रक्तचाप, मधुमेह, किडनी संबंधित बीमारी, हृदय, श्वसन संबंधी विकार से ग्रसित और गर्भवती महिला कर्मचारियों को कोरोना का खतरा देखते हुए मानवता की दृष्टिकोण से कार्यालय में उपस्थित से छूट देकर घर से काम करने की अनुमति देने की मांग की।राजपत्रित अधिकारी महासंघ ने रखी थी यह मांगठाकुर को राजपत्रित अधिकारी महासंघ ने बीमारी से पीड़ित महिला कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की अनुमति देने के संबंध में ज्ञापन दिया था। इससे मद्देनजर ठाकुर ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है। ठाकुर ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचने के लिए गर्भवती महिला अधिकारी और कर्मचारी अपने मूल गांव चली गई हैं। लॉकडाउन के कारण परिवहन पर पाबंदी होने के चलते महिला कर्मियों का कार्यालय में उपस्थित रहना संभव नहीं हो रहा। इसलिए सरकारी महिला अधिकारियों और कर्मचारियों को कार्यालय में प्रत्यक्ष उपस्थित रहने के लिए छूट दी जाए। उन्हें घर से काम करने की अनुमति दी जाए।नागपुर में 1707 हुई कोरोना संक्रमितों की संख्यानागपुर में कोरोना की संख्या बढ़कर अब 1707 हो चुकी है। शनिवार शाम 6 बजे तक 26 नमूने और पॉजिटिव आए। इससे पूर्व शुक्रवार को शहर में 70 मरीज पॉजिटिव पाए गए थे। पॉजिटिव आए नमूनों में 18 मेयो अस्पताल से, 4 मिलिट्री अस्पताल, 7 सेंट्रल जेल, रामटेक से 3, एम्स की लैब से 6, माफसू से 1 और निजी लैब में 3 पॉजिटिव आए।एयरपोर्ट अथॉरिटी के पास इमारतों की ऊंचाई पर पाबंदी लगाने का अधिकार नहीं: हाईकोर्टबॉम्बे हाईकोर्ट ने भारतीय विमान पत्तन प्राधिकरण (एएआई) की अपीलेट कमेटी को झटका दिया है। हाईकोर्ट ने कमेटी के अप्रैल 2019 के उस निर्णय को रद्द कर दिया है जिसमें कहा गया था कि एयरपोर्ट सर्विलांस रडार के दो किमी के दायरे में आने वाली इमारतों को उचाई से जुड़ी पाबंदियों को मानना पड़ेगा। हाई कोर्ट ने स्पष्ट किया कि कमेटी के पास ऐसी पाबंदी लगाने का अधिकार नहीं है। इसके साथ ही कमेटी के पास कोई प्रशासकीय व नियम बनाने की शक्तियां भी नहीं है। यह कमेटी साल 2015 में बनी थी।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

मलाड के एवरशाइन नगर में मास स्क्रीनिंग के लिए पहुंचे बीएमसे के कई स्वास्थ्यकर्मी।