पिछले तीन माह में ओट सेंटराें में 1968 नए मरीज हुए रजिस्टर्ड


लाकडाउन के दौरान जिले के नशा छुड़ाओ केन्द्रों और ओट सेंटर में मरीजों की संख्या में बड़े स्तर पर विस्तार हुआ है। पिछले तीन महीनों में 1968 नए मरीजों ने आठ ओट सेंटर में अपना पंजीकरण करवाया है। इन केन्द्रों में मरीजों की संख्या में वृद्धि का कारण मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह का नेतृत्व वाली सरकार की तरफ से नसा बेचने वालों की सप्लाई लाइन तोड़ने के लिए की गई सख्त कार्रवाई का नतीजा है।डीसी गुरपाल सिंह चाहल ने बताया कि 23 मार्च से 22 जून तक जिले में आठ ओट क्लिनिकों में 1968 नए मरीजों ने अपने आप को रजिस्टर्ड किया है। लाकडाउन/कर्फ्यू के दौरान 1,65,305 मरीजों ने इन क्लिनिकों में फिर विजिट की है। डीसी ने बताया कि जिले के अलग-अलग ब्लाॅकों में आठ सेंटर चल रहे हैं। लाकडाउन के दौरान 894 नए मरीजों ने ओट सेंटर सिविल अस्पताल फिरोजपुर में अपने आप को पंजीकृत करवाया है।इसी तरह ओओएटी क्लीनिक केंद्रीय जेल में 98 नए मरीज, फिरोजशाह में 238, ममदोट में 174, गुरु हरसहाए में 141, जीरा में 123, मक्खू में 61 और मल्लांवाला में 239 नये मरीज रजिस्टर्ड हुए हैं। उन्होंने कहा कि यह केंद्र लोगों को इस सामाजिक बुराई से छुटकारा दिलाने में सहायता कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि इन सेवाओं के लिए सेहत विभाग की तरफ से टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर पर 104 और किसी समय भी सहायता प्राप्त की जा सकती है।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today