दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था रैंकिंग में ब्रिटेन को पीछे छोड़ सकता है भारत: पीडब्ल्यूसी

नयी दिल्ली, 20 जनवरी (भाषा) भारत 2019 में दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की सूची में ब्रिटेन को पीछे छोड़ सकता है। वैश्विक सलाहकार कंपनी पीडब्ल्यूसी की एक रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि एक ही स्तर के विकास और कमोबेश समान आबादी की वजह से इस सूची में ब्रिटेन और फ्रांस आगे पीछे होते रहते हैं। लेकिन यदि भारत इस सूची में आगे निकलता है तो उसका स्थान स्थायी रहेगा। पीडब्ल्यूसी की वैश्विक अर्थव्यवस्था निगरानी रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया है कि 2019 में ब्रिटेन की वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 1.6 प्रतिशत, फ्रांस की 1.7 प्रतिशत तथा भारत की 7.6 प्रत

अप्रैल-दिसंबर में कोयला आयात 6.7 प्रतिशत बढ़कर 17.18 करोड़ टन

नयी दिल्ली, 20 जनवरी (भाषा) चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-दिसंबर अवधि में देश का कोयला आयात 6.7 प्रतिशत बढ़कर 17.18 करोड़ टन हो गया। वित्त वर्ष 2017-18 की इसी अवधि में यह आंकड़ा 16.1 करोड़ टन था। यह ऐसे समय हुआ है जब सरकार कोल इंडिया द्वारा एक अरब टन कोयला उत्पादन के लक्ष्य को पाने की समयसीमा में ढील देने पर विचार कर रही है। एमजंक्शन सर्विसेज की रिपोर्ट के अनुसार दिसंबर में कोयला का आयात 8.09 प्रतिशत घटकर 1.72 करोड़ टन रहा है जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 1.87 करोड़ टन था। एमजंक्शन, टाटा स्टील और सेल का संयुक्त उपक्रम है। यह कारोबार से कारोबार (बी2बी) का एक ई-वाणिज्य मंच है। साथ ही यह को

सीतारमण ने तमिलनाडु रक्षा औद्योगिक गलियारे का उद्घाटन किया

तिरुचिरापल्ली, 20 जनवरी (भाषा) देश में रक्षा उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए एक कदम और आगे बढ़ाते हुए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने रविवार को तमिलनाडु रक्षा साजोसामान विनिर्माण इकाइयों के लिए औद्योगिक गलियारे का उद्घाटन किया। सीतारमण ने कहा कि इसको लेकर स्थानीय उद्योग की प्रतिक्रिया काफी उत्साहनक रही है। ‘वे तो यहां तक चाहते थे कि इस गलियारे का विस्तार पलक्कड़ तक किया जाए, लेकिन हमने उनसे कहा है कि अभी यह सिर्फ शहरों तक केंद्रित रहेगा।’’ तमिलनाडु रक्षा औद्योगिक गलियारे को तमिलनाडु रक्षा उत्पादन चतुर्भुज भी कहा जाता है। इसमें नोडल शहर चर्तुभुज बनाते हैं। इन शहरों में चेन्नई, होसुर, सालेम, को

आरआईएनएल के रायबरेली संयंत्र जल्द शुरू होगा पहिए की फोर्जिंग का काम

नयी दिल्ली, 20 जनवरी (भाषा) राष्ट्रीय इस्पात निगम लिमिटेड (आरआईएनएल) के रायबरेली संयंत्र में जल्द ही पहियों की फोर्जिंग का काम शुरू हो जाएगा। केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह ने इसके सितंबर 2019 से शुरू होने की संभावना जतायी है। इस्पात मंत्रालय के एक अधिकारी के अनुसार फोर्ज किए हुए पहियों उत्पादन सितंबर 2019 से शुरू हो सकता है। उल्लेखनीय है कि पहले पहिये को ढाला जाता (कास्ट) है। उसके बाद उसकी पिटाई (फोर्जिंग) की जाती है ताकि उसे ठोस और मजबूत बनाया जा सके। उसके बाद पहियों की घिसाई कर उसे आकार दिया जाता है। सिंह ने कहा, ‘‘ नयी दिल्ली, 20 जनवरी (भाषा) राष्ट्रीय इस्पात निगम लिमिटेड

11,000 करोड़ रुपये की कोयला परियोजनाओं में देरी

नयी दिल्ली, 20 जनवरी (भाषा) देश में करीब 11,000 करोड़ रुपये की कोयला परियोजनाएं देरी में चल रही हैं। इससे चिंतित केंद्र सरकार ने कोल इंडिया तथा एनएलसी इंडिया लि.