एचडीएफसी बैंक का मुनाफा 23% बढ़कर 5,885 करोड़ रुपये, प्रोविजन बढ़कर 1,889 करोड़

नई दिल्ली
निजी क्षेत्र के एचडीएफसी (HDFC) बैंक का वित्त वर्ष 2018-19 की चौथी तिमाही में शुद्ध मुनाफा साल दर साल आधार पर 22.63 फीसदी बढ़ोतरी के साथ 5,885.12 करोड़ रुपये रहा। इसके पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में बैंक का शुद्ध मुनाफा 4,799.28 करोड़ रुपये रहा था।

जेट एयरवेज के कर्मचारियों ने बकाया सैलरी और इमर्जेंसी फंड के लिए राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से लगाई गुहार

नई दिल्लीजेट एयरवेज का परिचालन ठप होने के बाद रोजगार संकट का सामना कर रहे जेट एयरवेज के कर्मचारियों ने अब राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुहार लगाई है। कर्मचारियों ने राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को खत लिखकर बकाया वेतन भुगतान कराने और विमानन कंपनी को इमर्जेंसी फंड दिलाने की मांग की है।

जेट के कर्मचारियों ने वित्त मंत्री अरुण जेटली से एक महीने की सैलरी दिलवाने की अपील की

सौरभ सिन्हा नई दिल्ली
जेट एयरवेज के कर्मचारियों ने शनिवार को सरकार से एयरलाइन के लिए बोली प्रक्रिया जल्द से जल्द और पारदर्शी तरीके से पूरी करने की अपील की। साथ ही, उन्होंने कम से कम एक महीने की सैलरी दिलवाने का भी निवेदन किया है।

जेट एयरवेज के सीईओ विनय दूबे और सीएफओ अमित अग्रवाल सहित कंपनी के प्रतिनिधियों ने शनिवार शाम केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के आवास पर उनसे मुलाकात की, जिस दौरान उन्होंने उनसे अपील की। करीब एक घंटे तक चली बैठक में विमानन सचिव पी. एस. खरोला भी मौजूद रहे।

मार्च की जीएसटी बिक्री रिटर्न भरने की समय-सीमा 23 अप्रैल तक बढ़ी

नई दिल्ली
सरकार ने कारोबारियों के लिए मार्च माह की संक्षिप्त बिक्री रिटर्न जीएसटीआर-3बी भरने की समय-सीमा तीन दिन बढ़ाकर 23 अप्रैल कर दी है। जीएसटी पोर्टल ‘जीएसटी डॉट गाव डॉट इन’ के अनुसार मार्च 2019 की कर अवधि के लिए जीएसटी-3बी भरने की अंतिम तिथि बढ़ाकर 23 अप्रैल 2019 कर दी गई है। अब तक मार्च के लिए संक्षिप्त बिक्री रिटर्न भरने की समय-सीमा 20 अप्रैल थी।

एएमआरजी एंड एसोसिएट्स के भागीदार रजत मोहन ने कहा,‘जीएसटीएन में तकनीकी खामियों के चलते कर रिटर्न भरने की समय-सीमा बार-बार बढ़ाई जाती है।'

इन्फोसिस और कॉग्निजेंट ने डेटा में सेंध की खबरों को नकारा

सूचना-प्रौद्योगिकी क्षेत्र की प्रमुख कंपनियों इन्फोसिस एवं कॉग्निजेंट ने कहा है कि उनके डेटा में किसी तरह की सेंध नहीं लगी है और वे किसी भी तरह के साइबर हमले को लेकर चाक-चौबंद हैं। साइबर सुरक्षा से जुड़े ब्लॉग कर्ब्सऑनसिक्योरिटी ने हाल में अपने एक पोस्ट में कहा था, 'नए साक्ष्यों से ऐसा प्रतीत हो रहा है कि पिछले महीने अपने डेटा में सेंध अभियान के तहत विप्रो के दर्जनों कर्मचारियों एवं 100 से अधिक कंप्यूटर प्रणालियों पर हमला करने वालों ने लगता है कि इन्फोसिस एवं कॉग्निजेंट सहित अन्य कंपनियों को भी निशाना बनाया।'