उत्तरी कश्मीर में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी, जैश के 3 सक्रिय आतंकी गिरफ्तार

श्रीनगर
उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले में पुलिस ने एक बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकियों को गिरफ्तार किया है। जिले के हरितार और राफियाबाद इलाके से गिरफ्तार किए गए इन आतंकियों के पास से भारी मात्रा में गोला-बारूद बरामद किए गए हैं। गिरफ्तार किए गए तीन आतंकियों को किसी अज्ञात स्थान पर ले जाकर इनसे पूछताछ की जा रही है।

J&K: रियासी में जलप्रपात के पास भूस्खलन, 7 की मौत, 33 लोग घायल

रियासी/जम्मू
जम्मू-कश्मीर के रियासी जिले में रविवार को सिहाड़ बाबा जलप्रपात पर बड़ा हादसा हुआ। रविवार दोपहर जलप्रपात पर हुए भूस्खलन के बाद यहां स्नान कर रहे कई लोग दब गए, जिसमें 7 लोगों की मौत हो गई जबकि 33 लोग घायल हो गए। पुलिस के मुताबिक मृतकों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि अस्पताल में भर्ती कई जख्मी लोगों की हालत बहुत गंभीर है।

हादसे के बाद सेना, स्थानीय लोगों और जम्मू-कश्मीर पुलिस के जवानों की मदद से घायलों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां हालत गंभीर होने पर कई लोगों को जम्मू के राजकीय मेडिकल कॉलेज में शिफ्ट कर दिया गया।

जम्मू-कश्मीर: एलओसी पर सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया

जम्मू
सुरक्षा बलों ने जम्मू और कश्मीर के कुपवाड़ा में एलओसी पर चल रहे एनकाउंटर में एक आतंकी को मार गिराया। सोमवार को हुई इस मुठभेड़ में दो जवान भी घायल हो गए।

राज्य के कुपवाड़ा में साफावली गल सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास हुई मुठभेड़ में सोमवार को एक आतंकी को मार गिराया गया। इस कार्रवाई में सेना के दो जवान भी घायल हुए हैं। आतंकी के पास से एक एके-47 राइफल बरामद की गई है।

कुपवाड़ा में मुठभेड़: सेना ने 1 आतंकी को मार गिराया, 2 जवान घायल

श्रीनगर
जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है। सोमवार सुबह से चल रही मुठभेड़ में सेना मुंहतोड़ जवाब दे रही है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस एनकाउंटर में अभी तक 1 आतंकवादी की मौत हो चुकी है। हालांकि, सेना के दो जवान भी घायल हो गए हैं।

कठुआ केस में नया मोड़, पीड़िता के 'असल पिता' कोर्ट में होंगे पेश

राघव ओहरी, पठानकोट जम्मू-कश्मीर के कठुआ में कथित रूप से गैंगरेप के बाद हत्या के मामले में बच्ची के असली पिता को अभियोजन पक्ष जनवरी में अदालत के सामने पेश करेगा। हालांकि, इस मामले से वाकिफ लोगों ने बताया कि अभियोजन पक्ष के उन पर गवाह के रूप में भरोसा करने की संभावना नहीं है।