पुणे: नदी के तट पर निर्माणकार्य, पर्यावरणविद परेशान

पुणे
पुणे के नजदीक बसे वाई शहर की नगरपालिका परिषद ने कृष्णा नदी के तट पर निर्माणकार्य शुरू कर दिया है। पर्यावरणविद इस निर्माण से चिंतित हैं। उनका कहना है कि यह क्षेत्र ब्लू लाइन में आता है और इसका नुकसान कृष्णा नदी को उठाना पड़ सकता है।

करीब तीन साल पहले इस निर्माणकार्य की इजाजत दी गई थी। दरअसल, घाट पर पहले से स्थित एक मंदिर के सामने नदी के तल के 5,600 स्क्वेयर फीट हिस्से को कंक्रीट करने का योजना थी। बाद में पर्यावारण के मद्देनजर काम रोक दिया गया।

औरंगाबाद हिंसा: अवैध जल कनेक्शन अभियान से नाराज थे लोग, पुलिस ने घटना को बताया पूर्व नियोजित

औरंगाबाद
पिछले हफ्ते महाराष्ट्र के औरंगाबाद में हुई हिंसा को पुलिस ने पूर्व नियोजित बताया है। पुलिस रिपोर्ट के अनुसार, यह हिंसा अवैध जल कनेक्शन को लेकर नगर निकाय के अभियान को लेकर स्थानीय लोगों में गुस्से का परिणाम था। बता दें कि इस हिंसा में 11और 12 मई को मध्य महाराष्ट्र में दो लोगों की मौत हो गई थी। औरंगाबाद पुलिस कमिश्नर ने मामले की रिपोर्ट डीजीपी को सौंप दी है।

बहू के बनाए खाने को लेकर बाप ने किया बेटे का मर्डर

उल्हासनगरयहां 50 साल के एक व्यक्ति को अपने बेटे की जान लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। बेटे के कत्ल की जो वजह सामने आई है उसे जानकर सभी हैरान हैं। दरअसल, इस व्यक्ति ने अपने बेटे की हत्या अपनी बहू के अच्छा खाना न बनाने के कारण कर डाली।

बताया गया है कि 24 साल का कृष्णा अपनी 19 साल की पत्नी रेखा के साथ अपने पिता शांताराम उज्जैनकर के साथ विट्ठलवाड़ी में रहता था। पुलिस ने बताया है कि रेखा ने रविवार को शांताराम को खाना परसा। उस समय कृष्णा काम पर गया था। शांताराम ने रेखा का बनाया खाना नाले में फेंक दिया। इस पर रेखा नाराज हो गई।

नौकरियों में प्रमोशन में एससी-एसटी के आरक्षण के बिल की योजना तैयार कर रही केंद्र सरकार: आठवले

नागपुर
केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने कहा है कि केंद्र सरकार इस मॉनसून सत्र में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के कर्मचारियों के लिए नौकरियों में प्रमोशन में आरक्षण लागू करने का रास्ता तैयार करेगी।

पुणे: 16 हजार रुपये की रिश्वत लेने वाले दो फायरमैन गिरफ्तार

पुणे
महाराष्ट्र के पुणे में दो फायरमैन को 16 हजार रुपये की रिश्वत लेने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। खबर के मुताबिक राज्य के ऐंटी-करप्शन ब्यूरो (एसीबी) ने अपनी जांच में पाया कि दो फायरमैन ने एक बिल्डर को एनओसी देने के बाद उससे 16 हजार रुपये की घूस ली।

एसीबी ने आरोपियों की पहचान डेप्युटी फायर ऑफिसर उदय माधवराव वानखेड़े (52) और फायरमैन अनिल सदाशिव माणे (32) के रूप में की है। दोनों ही पिंपरी के संत तुकारामनगर स्थित पिंपरी छिंछवाड़ नगरपालिका फायरस्टेशन में कार्यरत हैं।