बीमार होने के बाद मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती कराये गए मनोहर पर्रिकर

मुंबई
फूड पॉयज़निंग की शिकायत के बाद गोवा मेडिकल कॉलेज ऐंड हॉस्पिटल में भर्ती कराए गए गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को गुरुवार शाम मुंबई के प्रसिद्ध लीलावती अस्पताल में ले जाया गया है। पर्रिकर को बुधवार रात गोवा मेडिकल कॉलेज से लीलावती अस्पताल में रिफर किया गया था जिसके बाद उन्हें यहां दाखिल कराया गया है।

बता दें कि मनोहर पर्रिकर को फूड पॉयज़निंग के चलते पेट दर्द की शिकायत के बाद बुधवार देर रात जीएमसीएच में भर्ती कराया गया था। इस दौरान हुई जांच में चिकित्सकों ने उन्हें बेहतर इलाज के लिए मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती होने की सलाह दी थी।

बीफ खाना है तो खाइए, लेकिन फेस्टिवल क्योंः उपराष्ट्रपति वेंकैया

मुंबई
उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू सोमवार को बीफ पार्टी और किस इवेंट आयोजित करने वालों को नसीहत देते नजर आए। उन्होंने इसके साथ ही संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरु को फांसी दिए जाने के विरोध में कार्यक्रम करने वालों की भी निंदा की। वेंकैया ने मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, 'आप बीफ खाना चाहते हैं, तो खाइए। लेकिन इसके फेस्टिवल का आयोजन क्यों? कुछ ऐसा ही मामला किस को लेकर भी है। अगर आप किस करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको फेस्टिवल की या किसी की आज्ञा की क्या जरूरत?'

पीएनबी कर्मचारी के पिता बोले, मेरे बेटे को बनाया जा रहा बलि का बकरा

पुणे
पंजाब नैशनल बैंक के महाघोटाले में आरोपी बैंककर्मी मनोज खरात के पिता हनुमंत खरात ने दावा किया है कि उनका बेटा निर्दोष है और उसे बलि का बकरा बनाया जा रहा है। हनुमंत खरात ने हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में कहा, 'मनोज मुंबई में है और हमने उसे कहा है कि जांच में वह सीबीआई का पूरा सहयोग करे। इस मामले में जो भी जानकारी उसके पास है, वह सीबीआई को बताए।'

दुकान में गुटखा रखने के आरोप से बरी हुआ दुकान मालिक

ठाणे
गुटखा रखने के आरोप में यहां के पास मुंब्रा के 26 वर्षीय दुकान मालिक को एक स्थानीय अदालत ने आरोप से बरी कर दिया है। महाराष्ट्र में गुटखा पर प्रतिबंध लगा हुआ है।

जिला एवं अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश एएस भैसारे ने अपने हालिया आदेश में कहा कि अभियोजन पक्ष नदीम सुहेल अहमद शेख पर लगे आरोपों को साबित करने में नाकाम रहा। शेख पर भारतीय दंड संहिता और खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम, 2006 की कई धाराओं के तहत मामला दर्ज था।

पुणे पुलिस ने फ्रॉड केस में डीएस कुलकर्णी और परिवार की गिरफ्तारी के लिए बनाईं चार टीमें

पुणे
पुणे पुलिस ने फ्रॉड केस में फरार चल रहे डिवेलपर डीएस कुलकर्णी, और उसकी पत्नी हेमंती को गिरफ्तार करने के लिए चार टीमें तैयार की हैं। इस जोड़े की अग्रिम जमानत याचिका लंबित है और उसपर 7 मार्च को सुनवाई होनी है। शुक्रवार रात तक पुलिस को इस बारे में कोई सुराग नहीं था कि दोनों फिलहाल कहां हैं।

डेप्युटी कमिश्नर ऑफ पुलिस (क्राइम) को इस जांच का जिम्मा सौंपा गया है। उन्होंने इस बारे में बताया, 'पुलिस कुलकर्णी दंपती और उनके बेटे शिरीष की तलाश कर रही है। उन्हें ट्रैक करने के लिए हमने अपराध शाखा और ईओडब्ल्यू अधिकारियों की चार टीमों का गठन किया है।'