देवशयनी एकादशी 23 जुलाई को : इस दिन व्रत करने से पापों का होता है नाश, 4 महीनों तक नहीं होते शुभ कार्य

षाढ़ माह की शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवशयनी एकादशी कहा जाता है। इस साल ये एकादशी 23 जुलाई को पड़ रही है। देवशयनी एकादशी को हरिशयनी एकादशी, पद्मनाभा तथा प्रबोधनी के नाम से भी जाना जाता है। ऐसा माना जाता है कि इस व्रत को करने से पापों का नाश होता है और सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं।
आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

कृष्ण ने युधिष्ठिर को बताया था सुखी जीवन का रहस्य , मरने के बाद कौन लोग जाते हैं स्वर्ग

महाभारत के अश्वमेधादिक पर्व में युधिष्ठिर और भगवान कृष्ण की बातचीत है। युधिष्ठिर के सवालों पर कृष्ण ने उन्हें जवाब दिए। युधिष्ठिर ने उनसे पूछा कि किन लोगों का जीवन हमेशा सुखी रहता है, कौन से वो लोग होते हैं जो मरने के बाद स्वर्ग जाते हैं, या मोक्ष प्राप्त करते हैं। भगवान कृष्ण ने इस बात को एक श्लोक में बताया है। श्लोक के अनुसार, जो मनुष्य ये 4 आसान काम करता है, उसे निश्चित ही स्वर्ग की प्राप्ति होती है।

किसी पर किया गया जरूरत से ज्यादा भरोसा भी आपको मुसीबत में डाल सकता है, हर किसी से कुछ बातें छिपाकर रखना ही समझदारी है

राजनीति और अर्थशास्त्र के महान नीतिकारों में चाणक्य का नाम सबसे आगे है। नंदवंश के राजा धनानंद को सत्ता से हटाकर चंद्रगुप्त मौर्य को राजा बनाने वाले चाणक्य का एक नाम विष्णु गुप्त भी था। अर्थशास्त्र के विद्वान चणक का पुत्र होने के कारण उन्हें चाणक्य कहा जाता था। इन्हें ही आचार्य विष्णु शर्मा भी कहा गया है।
आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

अपने कुल देवी-देवताओं की पूजा किए बिना कोई भी पूजा नहीं होती सफल, मनोकामनाएं नहीं होतीं पूरी

काफी लोग पूजा-पाठ नियमित रूप से करते हैं, लेकिन अपने कुल देवता और कुल देवी का ध्यान नहीं करते हैं, इस कारण पूजा का फल नहीं मिल पाता है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार अगर कुल के देवी-देवता की पूजा नहीं की जाएगी तो कोई भी उपाय सफल नहीं हो सकता है।
आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

दावा: शिरडी में सांई बाबा ने दिखाया चमत्कार, दिए दीवार पर दर्शन, बाबा ने दिया था वचन भक्तों के लिए दौड़ा चला आऊंगा

महाराष्ट्र के शिरडी स्थित साईं मंदिर में हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। दावा किया जा रहा है कि भक्तों को यहां द्वारिका माई मंदिर की दीवार पर अचानक साईं बाबा की तस्वीर दिखी। प्रत्यक्षदर्शी के अनुसार, साईं बाबा की तस्वीर कुछ मिनटों के लिए नहीं बल्कि करीब तीन घंटों के लिए दीवार पर दिखाई दी। मामला बुधवार की रात का बताया जा रहा है।
आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें