फ्लाइट में यात्रियों के नाक-कान से गिरने लगा खून

मुंबई
जेट एयरवेज के विमान में उस वक्त अफरातफरी मच गई, जब गुरुवार सुबह मुंबई से जयपुर जा रही फ्लाइट में 30 यात्रियों के नाक और कान से खून निकलने लगा। असल में क्रू मेंबर केबिन प्रेशर मेंटेन करने वाले स्विच को दबाना ही भूल गए थे, जिसके चलते विमान के ऊंचाई पर पहुंचने से लोग हवा की कमी महसूस करने लगे। देखते ही देखते कुछ लोगों के नाक और कान से ब्लीडिंग होने लगी, जबकि तमाम लोग ऐसे थे, जिन्हें सिर दर्द होने लगा।

चार साल में राज्य की आर्थिक हालत बदतर: चव्हाण

मुंबई
15वें वित्त आयोग द्वारा महाराष्ट्र की आर्थिक स्थिति के बारे में दर्ज की गई प्रतिकूल टिप्पणियों को लेकर कांग्रेस ने भाजपा सरकार पर साधा निशाना साधा है। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि 4 साल में भाजपा ने महाराष्ट्र की आर्थिक स्थिति को बदतर कर दिया है।

ATS को नहीं पता, किस बिल में छुपा है भटकल

पुणे
जर्मन बेकरी बम ब्लास्ट केस के मुख्य आरोपी मोहम्मद अहमद सिद्दीबप्पा उर्फ यासीन भटकल को राज्य एटीएस कोर्ट के सामने एक बार भी नहीं ला सकी है। वहीं बुधवार को एटीएस ने यह कह दिया कि उसे नहीं पता कि फिलहाल भटकल कहां है। इस बारे मे लिखित जानतकारी पुणे सेशन कोर्ट को दी गई, जिसके बाद डिस्ट्रिक्ट और सेशन जज केडी वाधने ने यरवडा सेंट्रल जेल प्रशासन से जवाब मांगा है।

सांप की रीढ़ में चोट, MRI, एक्स-रे, फिर इलाज

ऐलेक्स फर्नांडिस, मुंबईआपने इंसानों का एमआरआई स्कैन होता तो देखा होगा, मगर कभी एमआरआई मशीन में किसी सांप को जाते देखा है? मुंबई में ऐसे ही एक सांप का इलाज चल रहा है जिसकी रीढ़ की हड्डी एक शख्स ने लाठी मारकर तोड़ दी थी। हरे रंग के बैम्बू पिट वाइपर को दहिसर से बचाया गया था।

पशु चिकित्सक डॉ. दीपा कात्याल के मुताबिक, सांप के शुरुआती एक्स-रे से ज्यादा कुछ साफ नहीं हो पाया है। डॉ. दीपा ही इस सांप का इलाज कर रही हैं। उन्होंने बताया, 'एक्स-रे से जब ज्यादा कुछ साफ नहीं हुआ तब हमने एमआरआई किया।'

राम मंदिर के लिए भी अध्यादेश लाए केंद्र: शिवसेना

मुंबई
शिवसेना ने तीन तलाक देने पर रोक लगाने के लिए केंद्र के अध्यादेश लाने के फैसले का स्वागत किया है। साथ ही पार्टी ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भी केंद्र से अध्यादेश लाने की मांग की है। उद्धव ठाकरे की अगुवाई वाली पार्टी ने कहा है कि सरकार को देश के हिन्दुओं की भावनाओं का ध्यान देखते हुए उनसे किए गए कम से कम एक वायदे को पूरा करने के लिए कदम उठाने चाहिए। बता दें कि केंद्रीय कैबिनेट ने बुधवार को एक बार में तीन तलाक देने की प्रथा को प्रतिबंधित करने के लिए एक अध्यादेश को मंजूरी दी है।