श्री तुंगनाथ मन्दिर के कपाट खुले, आप भी करें दर्शन

गोपेश्वर। एनबीटी न्यूज।

हिमालय में पंचकेदार श्रृंखला के मुख्य मंदिरों में एक श्री तुंगनाथ मंदिर के कपाट भी दर्शनों के लिए खोल दिए गए है। तुंगनाथ मंदिर भी पंचकेदार श्रृंखला के अन्य मंदिरों की तरह शीतकाल में सर्दी की वजह से बंद रहता हैं तथा शीतकालीन पूजा मक्कू गांव के मार्केंडेय मंदिर में होती है। बुधवार सुबह श्री तुंगनाथ भगवान की उत्सव डोली पैदल यात्रा के साथ तुंगनाथ मन्दिर पहुंची, जिसके बाद परंपरागत पूजा अर्चना के बाद कपाट खुलने की प्रक्रिया संपन्न हुई और साढ़े दस बजे मंदिर के कपाट खोले गए।

हमारे अंदर ही छिपा है हर दुख का समाधान, ऐसे खोजें

नई दिल्ली: विवेकानंद योगाश्रम, खुरेजी में यज्ञ अनुष्ठान के अवसर आचार्य विक्रमादित्य ने कहा कि आसक्ति भाव से किए जानेवाले कर्म ही दुःख का कारण बनते हैं। दुख बाहर से नहीं भीतर से ही प्रकट होता है। समस्या बाहर नहीं भीतर ही है। इसलिए समाधान भी भीतर ही मिलेगा।

महागौरी मंदिर, खजूरी खास कॉलोनी में सत्संग के अवसर पर पंडित भोलादत्त पांडेय ने कहा कि भगवान के नाम का जप करना बहुत सरल काम है, अभ्यास करना आपके हाथ की बात है। जीभ से नाम का जप करें। सांस हर वक्त चलता ही रहता है, उसके द्वारा नाम जप करें।

इस ज्येष्ठ माह में 9 बड़े मंगल से दूर होंगे भक्तों के अमंगल

लखनऊ, आज से ज्येष्ठ का महीना आरंभ हुआ है और यह 28 जून तक रहेगा। इस साल ज्येष्ठ के महीने में बहुत ही शुभ संयोग बना है। महीने का आरंभ मंगलवार को हुआ है। इस महीने में मलमास लगने के कारण महीने के दिन बढ़ गए हैं जिससे ज्येष्ठ महीने में कुल 9 मंगलवार होंगे। ज्येष्ठ महीने का पहला बड़ा मंगलवार 1 मई यानी पहले दिन ही लगा है। इस महीने में 15 मई को भौमवती अमावस्या लगने से इस मंगलवार का महत्व और बढ़ गया है।

केदारनाथ के बाद आज बदरीनाथ के कपाट खुले, दर्शन को उमड़े हजारों श्रद्धालु

बाबा केदरानाथ के बाद सोमवार को भगवान बदरीनाथ के कपाट मंत्रोच्चारण के बाद खोल दिए गए। सुबह साढ़े चार बजे बदरीनाथ के कपाट खुलने के साथ ही भक्तों ने अपने जयकारों से भगवान के दर्शन करने का सिलसिला शुरू कर दिया। चारधाम की यात्रा में बदरीनाथ धाम काफी प्रसिद्ध है। यह मंदिर हिन्दुओं की आस्था का बहुत बड़ा केंद्र है। उत्तराखंड में अलकनंदा नदी के किनारे बसा यह मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित है।