'न्यू गुड़गांव में चलाई जाए सिटी बस'

एनबीटी न्यूज, गुड़गांव
सेक्टर-81 को 115 से जोड़ने के लिए न्यू गुड़गांव के रेजिडेंट्स ने जीएमडीए के सीईओ से सिटी बस सर्विस चलाने की मांग की है। रेजिडेंट्स ने कहा कि इस इलाके में रह रहे लोग उद्योग विहार, साइबर सिटी, सेक्टर-37 इंडस्ट्रियल एरिया में नौकरी करते हैं। उन्हें आवाजाही के लिए थ्रीव्हीलर या अन्य वाहनों का सहारा लेना पड़ता है। यदि सिटी बस चलेगी तो उन्हें काफी राहत मिलेगी।

अंबाला: नवविवाहिता को किडनैप कर गैंगरेप, 3 गिरफ्तार

अंबाला
अंबाला में किडनैपिंग के बाद बंदूक की नोंक पर एक नवविवाहित से गैंगरेप का मामला सामने आया है। वो भी शादी के महज 3 दिनों के बाद। शादी के मात्र तीन दिन बाद ही एक नवविवाहिता को किडनैप करके हथियारों के दम पर उसके साथ गैंगरेप किया गया।

पुलिस ने इस मामले में पीड़िता के पति की पूर्व पत्नी के पिता और भाइयों को गिरफ्तार कर लिया है, जिन्हें कोर्ट में पेश करके पुलिस रिमांड हासिल करेगी। सूत्रों के अनुसार शादी कई साल पहले गुड़गांव की एक लड़की के साथ हुई थी, लेकिन आए दिन कलह की वजह से दिसंबर में तलाक हो गया।

हड़ताल खत्म कर बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारी काम पर लौटे

मांगों को लेकर 24 दिन से बैठे थे हड़ताल पर
एनबीटी न्यूज, गुड़गांव : मांगों को लेकर 24 दिन से हड़ताल पर बैठे बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारी गुरुवार को हड़ताल खत्म कर काम पर लौट आए। सीएचसी,पीएचसी में ठप पड़ा काम शुक्रवार से पटरी पर लौटने की उम्मीद है।

घर के बाहर से अगवा नाबालिग को 5 घंटे बाद न्यूड अवस्था में फेंक गए बदमाश

वरिष्ठ संवाददाता, गुड़गांव
साइबर सिटी में इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। राजेंद्रा पार्क थाना एरिया में 16 साल की नाबालिग का घर के बाहर से अपहरण कर लिया गया। करीब पांच घंटे बाद उसे नग्न हालत में घर के पास फेंककर युवक फरार हो गए। कार में सवार युवकों ने नशीला पदार्थ सुंघाकर पीड़िता का अपहरण किया।

कॉलेज में सुरक्षित नहीं छात्राएं, सुविधाओं का भी अभाव

पलवल
एसडी कॉलेज में सुविधाओं के अभाव और छात्राओं से आए दिन हो रही छेड़खानी के विरोध में गुरुवार को स्टूडेंट्स ने प्रदर्शन किया। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् की अगुवाई में जमकर नारेबाजी भी की गई। एबीवीपी के जिला संयोजक योगेश कौशिक व नगर मंत्री हितेश वशिष्ठ ने बताया कि कॉलेज मे पानी के लेकर कैन्टीन, पंखे, बिजली और शौचालयों की हालत खराब है। लाइब्रेरी में किताबों की कमी है, जिससे स्टूडेंट्स की पढ़ाई बाधित हो रही है।