पुलवामा शहीदों की याद में निकाल रहे थे रैली, लगा करंट, 2 की मौत

फरीदाबादपुलवामा में हुए आंतकी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों की याद में रैली निकालने के दौरान दो युवकों की कंरट से मौत हो गई। हादसा उस वक्त हुआ जब दोनों युवक हाथ में झंडे लेकर चल रहे थे। गली में पानी भरा हुआ था। साइड में ट्रांसफॉर्मर लगा हुआ था। पानी से निकलते समय दोनों युवक करंट की चपेट में आ गए। कैंप थाना पुलिस ने मृतक के चाचा की शिकायत पर बिजली विभाग के अधिकारियों की लापरवाही से हुई मौत का मामला दर्ज किया है।

पुलवामा बयानः पंजाब असेंबली में नवजोत सिंह सिद्धू और अकाली दल विधायकों में गर्मागर्मी

चंडीगढ़
पुलवामा हमले के बाद अपने बयान को लेकर पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू विवादों के घेरे में फंसे हुए हैं। उन्हें भारी आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। सिद्धू के खिलाफ पंजाब की विधानसभा में जमकर नारेबाजी हुई। शिरोमणि अकाली दल के नेताओं ने सिद्धू के बयान पर उनसे सफाई मांगे जाने की मांग की। इस दौरान गर्मागर्मी काफी बढ़ गई और विधायक एक-दूसरे के सामने आ गए।

अकाली दल ने सिद्धू को बर्खास्त करने की मांग की, सिद्धू की पाक दौरे की तस्वीरें जलाईं गईं

चंडीगढ़, 18 फरवरी (भाषा) विपक्षी शिरोमणि अकाली दल ने सोमवार को पुलवामा हमले के बाद दिए बयानों के चलते पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को बर्खास्त करने की मांग की है। वहीं अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया और क्रिकेटर से राजनेता बने सिद्धू के बीच इस मुद्दे पर कहासुनी भी हुई। पंजाब विधानसभा के बजट सत्र की शुरुआत से पहले मजीठिया के नेतृत्व में अकाली दल के नेताओं ने उन तस्वीरों को जलाया जिनमें सिद्धू पाकिस्तान सेना प्रमुख से गले मिलते नजर आ रहे थे। सिद्धू गत वर्ष 18 अगस्त को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में शिरकत करने पाकिस्तान गए थे। सदन के बाहर मजीठिया ने पत्रकारों स

पुलवामा: नहीं बदले नवजोत सिद्धू के सुर, कहा-अपने बयान पर अडिग

चंडीगढ़
पुलवामा हमले के बाद पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू अपने बयानों को लेकर लगातार विवादों में हैं। उनके बयान को लेकर आज पंजाब विधानसभा में अकाली विधायकों ने जबरदस्त हंगामा किया। इसके बाद सिद्धू ने एक बार फिर दोहराया कि वह अपने बयान पर कायम है कि आतंक की कोई जाति, धर्म और कौम नहीं होता। उन्होंने पुलवामा आतंकी हमले की आलोचना तो की लेकिन पाकिस्तान का कोई जिक्र नहीं किया।

कश्मीर लौटने के लिए मोहाली पहुंचे 300 छात्र, कई संगठन कर रहे मदद

चंडीगढ़
पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद देहरादून में कश्मीरी छात्रों से बदसलूकी की खबरों के बीच कश्मीर के 300 से अधिक छात्र अपने घर वापस जाने के लिए उत्तराखंड और हरियाणा से मोहाली पहुंचे हैं। एक छात्र संगठन ने पंजाब में इनके रहने का प्रबंध किया है। उत्तराखंड की राजधानी में पढ़ने वाले कुछ कश्मीरी युवकों ने आरोप लगाया है कि उनके साथ बदसलूकी की गई और उनके मकान मालिकों के उन्हें मकान खाली करने के लिए भी कहा क्योंकि उन्हें (मकान मालिकों) डर था कि छात्रों की वजह से उनकी संपत्ति पर हमला किया जाएगा।