पेट पर फोड़ा पटाखा, युवक की अस्पताल में मौत

प्रेम देव शर्मा, मेरठथाना खरखौदा के नरहेड़ा गांव में एक युवक पर आरोप लगा है कि उसने दिवाली के दिन एक सम्प्रदाय विशेष के अधेड़ के पेट पर पटाखा रख कर फोड़ दिया था, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया था। तभी से उसका उपचार जारी था। गुरुवार को अधेड़ की मौत हो गई। गुस्साए परिजनों ने शव को सड़क पर रख जाम लगाने का प्रयास किया।

मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने परिजनों को बताया कि आरोपी ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया है, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। इसके बाद लोग शांत हो गए।

मिशन 2019: दिग्गजों के साथ बीजेपी जमीन पर उतारेगी प्लान 'कमल संदेश'

शादाब रिजवी, मेरठ
उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव 2019 की जीत के लिए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) कोई चूक नहीं चाहती है। प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में शनिवार को एक साथ दस लाख बाइक पर सड़कों पर उतारकर पार्टी के पक्ष में मौहाल बनाने का तैयारी है। इसके लिए जुटने वाले वर्करों की रहनुमाई के लिए पार्टी ने वेस्ट की 14 लोकसभा सीटों पर मंत्रियों, सांसदों, विधायकों और सीनियर पदाधिकारी जैसे दिग्गजों को मैदान में उतारा है। रैली के आगे महिला मोर्चा की कार्यकर्ता भगवा पगड़ी और भगवा जैकेट पहनकर चलेंगी।

आरएसएस-वीएचपी गरम रखेंगे राम मंदिर का मुद्दा, जुटाएंगे समर्थन

शादाब रिजवी, मेरठ
राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) और विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) राम मंदिर निर्माण के मुद्दे को लगातार गरम सखना चाहते हैं। उसके लिए पूरा प्रोग्राम भी तैयार कर लिया गया है। 19 नवंबर से 9 दिसंबर तक का जनजागरण अभियान चलाने की योजनाओं को अंतिम रूप दे दिया गया है।

राम मंदिर निर्माण के लिए गांव-गांव में गूंजेगा 'जय श्रीराम', वीएचपी ने बनाया खास प्लान

शादाब रिज़वी, मेरठ
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए राष्ट्रीय स्वयं सेवक (आरएसएस) और विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) ने देश में गांव से राजधानी दिल्ली तक अलख जगाने के लिए नया प्लान बनाया है। वीएचपी दिसंबर महीने में एक दिन-एक साथ आमजन की मौजूदगी में पूरे देश में धार्मिक अनुष्ठान करेगी। इस बार अयोध्या में विवादित इमारत गिराने के काम को शौर्य बताकर ही नहीं बल्कि मंदिर निर्माण के लिए संकल्प दिवस मनाना तय किया है। आरएसएस और वीएचपी समेत दूसरे अनुषांगिक संगठनों की मेरठ में हुई गोपनीय बैठक में यह निर्णय लिया गया।

यूपी में कैसे खड़ी होगी कांग्रेस? चुनाव मैनेजमेंट बूथ स्तर पर 'ढेर'

शादाब रिज़वी, मेरठ
उत्तर प्रदेश में राजनीतिक वजूद फिर से मजबूत करने में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के प्रयास को उनके जिला और शहर अध्यक्ष पलीता लगा रहे हैं। मिशन 2019 में जीत हासिल करने के लिए हर बूथ पर दस सहयोगियों के नाम तक जिलों से टीम राहुल को नाम नहीं भेजे जा सके। इसको कांग्रेस की चुनावी तैयारी के लिए एक बड़े झटके के तौर पर देखा जा रहा है। कांग्रेस का चुनाव मैनेजमेंट एक तरह से बूथ स्तर पर ही असफल माना जा रहा है। हाइकमान इससे बहुत नाराज है।